To The Point Shaad

My Work

नई पहल:-पटाखे नही किताबे

ਦਿਵਾਲ਼ੀ ਮੌਕੇ ਤਰਕਸ਼ੀਲਾਂ ਨੇ ਲਾਈ ਕਿਤਾਬਾਂ ਦੀ ਸਟਾਲ…. ਕਾਲਾਂਵਾਲੀ ਦੇ ਬਜ਼ਾਰ ਵਿਚ ਦਿਵਾਲ਼ੀ ਦੇ ਮੌਕੇ ਤਰਕਸ਼ੀਲ ਸੁਸਾਇਟੀ ਪੰਜਾਬ ਦੀ ਇਕਾਈ ਕਾਲਾਂਵਾਲੀ ਵੱਲੋਂ ਕਿਤਾਬਾਂ ਦੀ ਪ੍ਰਦਰਸ਼ਨੀ ਲਾਈ ਗਈ। ਇਹ ਜਾਣਕਾਰੀ ਦਿੰਦੇ ਹੋਇਆਂ ਸੂਬਾ ਆਗੂ ਮਾ ਅਜਾਇਬ ਜਲਾਲਆਣਾ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਅੱਜ ਦੇ ਵਿਗਿਆਨ ਦੇ ਯੁੱਗ ਅੰਦਰ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਇੱਕ ਵੱਡੀ ਸਮੱਸਿਆ ਬਣਿਆ ਹੋਇਆ ਹੈ ਜਿਸ ਕਰਕੇ ਅਜਿਹੇ …

नई पहल:-पटाखे नही किताबे Read More »

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर CDLU में हुआ सेमिनार

सिरसा। चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा राष्ट्रीय प्रेस दिवस की पूर्व संध्या पर वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार में देशभर से प्रतिभगियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज की। वेबिनार में राजस्थान विश्वविद्यालय जयपुर के पूर्व प्रो. संजीव भानावत ने मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए कहा कि लोकतंत्र में …

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर CDLU में हुआ सेमिनार Read More »

राजस्थान की अमूल्य विरासत हर्षनाथ मंदिर:- अमित मुदगल

हर्ष पर्वत शेखावटी अंचल में सीकर ज़िले से १६ किलोमीटर दूर दक्षिण में स्थित है। आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा यहाँ के मंदिर विरासत घोषित है। यहाँ के नज़ारे शानदार है साथ ही वातावरण में भाई-बहन के प्रेम की ख़ुशबू महकती है ।राजस्थान की शानदार विरासत

ऑस्ट्रेलिया की तर्ज पर डबवाली में Manu`s Dine and Takeaway

मण्डी डबवाली में शिवचौक के पासलजीज भोजन का स्वादManu`s Dine and Takeawayकैसे होता है भोजन तैयारआधुनिक रसोई में बनती है रोटियांपहली बार थाली सिस्टम ऑडर पर घर भी उपलब्ध … क्लिक करे और देखे क्या है विशेषतापूरा परिवार बैठ कर आनंद लेता है भोजन का…

कलम, रंग,ओर विचार का चित्रकार Gurpreet Artist Bathinda

ਅੱਜ ਸ਼ੇਰੇ ਪੰਜਾਬ ਮਹਾਂਰਾਜਾ ਰਣਜੀਤ ਸਿੰਘ ਦਾ 240ਵਾਂ ਜਨਮ ਉਤਸਵ ਹੈ ! 13 ਨਵੰਬਰ 1780 ਨੂੰ ਜਨਮ ਲੈਣ ਵਾਲੇ ਪੰਜਾਬ ਦੇ ਇਸ ਬਹਾਦਰ ਸ਼ੇਰ ਨੇ ਆਪਣੇ ਨਾਮ ਮੁਤਾਬਿਕ ਰਣ ਜਿੱਤਦੇ ਹੋਏ ਅਫਗਾਨਿਸਤਾਨ ਤੋਂ ਲੈ ਕੇ ਤਿੱਬਤ ਤੱਕ ਅਤੇ ਗਿਲਗੀਤ ਤੋਂ ਸਤਲੁਜ ਅਤੇ ਡੇਰਾ ਗਾਜ਼ੀ ਖਾਨ ਤੱਕ ਵਿਸ਼ਾਲ ਪੰਜਾਬ ਦਾ ਰਾਜ ਖਾਲਸਾ ਰਾਜ ਸਥਾਪਿਤ ਕੀਤਾ ! …

कलम, रंग,ओर विचार का चित्रकार Gurpreet Artist Bathinda Read More »

तिनका….

(मेरे एकल नाटक तिनका का पहला डायलॉग…) बस ये ही इक बात खतरनाक ….हर कोई चाहता है कोई और लडे …..बंदूक हमारी और कंधा किसी कातो फिरलड़ाई…..अब और किस लिएकिसके लियेक्योकिमै और नहीं चाहता लड़नाऔर बोलनाबसमै मुर्दा होगया हूँऔर शामिल हूँ भेड़ो की भीड़ मेंकल अंतिम विदाई हैतुम भी आना और बस सिर्फ रोनाऔर कहना …

तिनका…. Read More »

चंडीगढ़ की एक रात…

चंडीगढ़ की रात…आज रात के भोजन के बादसड़क किनारे टहलते हुएपास से गुजरती तेज गाड़िया की तेज लाइटचोंक पे लाल बत्तीतेज चलती सब की जिंदगी को शायदकम ही बर्दास्त होती हैऔरहरी बत्तीसब को पसन्दफिर रफ़्तार और हॉर्न की पो पोफुटपाथ पे रुके हुए मेरे पैरलाल और रंग में उलझ गएफिर सोचा होटल तो अपनी जगह …

चंडीगढ़ की एक रात… Read More »

आईना सी है ज़िन्दगी, तू मुस्कुरा, और ये ज़िन्दगी भी मुस्कुरा देगी! क्यों रोता है कि कुछ मिला नहीं ? तू मांग तो सही, ज़िंदगी इतना देगी!