To The Point Shaad

वर्तमान दौर में परिवार , रिश्तो का बदलता स्वरूप

विशेष चर्चा प्रसिद्ध साहित्यकार जनाब रमेश सेठी बादल से

रिश्तो के बीच कम हो रही है सवेदनशीलता हर कोई चाहता है अपने ही ढंग से जीना

रमेश सेठी बादल साहब पंजाबी के प्रसिद्ध लेखक है अब तक पांच पुस्तकें लिख चुके है कलम के माद्यम से मानवीय रिश्तो पर गहरी पकड़ है उनकी रचनाओं में परिवार और समाज के पात्रों का दृष्टिकोण बहुत ही सार्थक होता है

बेबाक ढंग से अपनी बात कहते है उनकी हर रचना जब कोई पाठक पढ़ता है तो ऐसा लगता है जैसे वो रचना उसकी खुद की ही कहानी हो हर पाठक अपने आप से ही बहुत सवाल पूछता है लेखन शैली भी बड़ी कमाल व सरल होती है tothepointshaad की तरफ से आपकी कलम के लिए सदैव आदर भाव है ज़िन्दगी ज़िंदाबाद

3 thoughts on “वर्तमान दौर में परिवार , रिश्तो का बदलता स्वरूप”

  1. Angrej singh saggu

    ਸਤਿਕਾਰਯੋਗ ਰਮੇਸ਼ ਸੇਠੀ ਬਾਦਲ ਸਾਹਿਬ ਆਪਣੇ ਸ਼ਹਿਰ ਦੇ ਬਹੁਤ ਹੀ ਉੱਘੇ ਲੇਖਕ ਤੇ ਹੱਸਮੁੱਖ ਸੁਭਾਅ ਤੇ ਮਿਲਾਪੜੀ ਸ਼ਖ਼ਸੀਅਤ ਹੈ… ਇਹਨਾਂ ਦੇ ਨੇਕ ਵਿਚਾਰ ਪ੍ਹੜਦੇ ,ਸੁਣਦੇ ਰਹਿੰਦੇ ਹਾਂ।।। ਬਹੁਤ ਬਹੁਤ ਸ਼ੁਕਰੀਆ ਸ਼ਾਦ ਸਾਹਿਬ, ਜ਼ਿੰਦਗੀ ਜ਼ਿੰਦਾਬਾਦ 👏👏

  2. ਮਨ ਦੀਆਂ ਗਹਿਰਾਹੀਆਂ ਵਿਚ ਖੁੱਭੀਆਂ ਗੱਲਾਂ ਨੂੰ ਬਾਹਰ ਕਢਾਉਣ ਦਾ ਹੁਨਰ ਪ੍ਰਸਿੱਧ ਐਂਕਰ ਅਤੇ ਰੰਗ ਕਰਮੀ ਸ੍ਰੀ ਸੰਜੀਵ ਸ਼ਾਦ ਕੋਲ ਹੈ। ਇਹ੍ਹਨਾਂ ਦਾ ਇੰਟਰਵਿਊ ਲੈਣ ਦਾ ਅੰਦਾਜ਼ ਹੀ ਜਬਰਦਸਤ ਹੈ। ਦਿਲ ਦੀ ਗੱਲ ਬਾਹਰ ਆ ਹੀ ਜਾਂਦੀ ਹੈ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *